23 Jul 2015

Top 2 Line Whatsapp Status Shayari Collection Hindi -Love Romantic


Whatsapp Hindi Shayari, Whatsapp Status Hindi Short,  Whatsapp Love Shayari,  Whatsapp 2 line Shayari,  Whatsapp 1 Line Shayari For Girl Friend,  Whatsapp Small Status ,  Whatsapp Cool Status hindi,

दिल ने आज फिर तेरे दीदार की ख्वाहिश रखी है,
अगर फुरसत मिले तो ख्वाबों मे आ जाना...!!!
 .............................
 क्या वफा होती है?
काश तुम जान जाती ...
ना हम, ना तुम अकेली होती ।
....................................
ना किसी से ईर्ष्या, ना किसी से कोई होड़,
मेरी अपनी मंजीले, मेरी अपनी दौड़ !
.....................................

जब भी तन्हाई में जी लेने की बात आई ___!
तुमसे हर एक मुलाकात मुझे याद आई....!
.........................................
सेल्फ़ी निकालना तो
सेकण्ड्स का काम है।

वक़्त तो "इमेज"
बनाने मैं लगता है ।
..........................................
बना रखी हैं दीवारों पे तस्वीरें परिन्दों की
वर्ना हम तो अपने घर की वीरानी से.मर जायें
...............................
कोशिश बहुत थी कि राज ए मोहब्बत ब्याँ न हो..
पर मुमकिन कहाँ था कि आग लगे और धुआँ न हो
................................
दर्द के हवाले क्यों उल्फत का नाम लेकर
आँखों से छलकते है अश्कों का जाम लेकर
...................................
सिर्फ यादों का एक सिलसिला रह गया है...
खुदा जाने उनसे मेरा क्या रिश्ता रह गया है…
...................................
बेचकर नीदें अपनी करवटें खरीद ली हमने
सौदागर सा हो गया दिल यादों के मामलें में
.......................................

"काफिर के दिल से आया हूँ मैं ये देख कर वहाँ पर जगह नही,
खुदा मौजूद है वहा भी, काफिर को पता नहीं "

Wasi : "खुदा मौजूद हैं पुरी दुनिया में, कही भी जगह नही,
तू जन्नत में जा वहाँ पीना मना नहीं "
............................................

Saqi :
"पीता हूँ ग़म-ए-दुनिया भुलाने के लिए अौर कुछ नही,
जन्नत में कहाँ ग़म है वहाँ पीने में मजा नहीं"
.
Santa:
"हम पीते हैं मज़े के लिए, बेवजह बदनाम गम है,
पुरी बोतल पीकर देखों, फिर दुनिया क्या जन्नत से कम है
.............................................

Mirza Ghalib :
"शराब पीने दे मस्जिद में बैठ कर
या वो जगह बता जहाँ पर ख़ुदा नहीं"

Iqbal :
"मस्जिद ख़ुदा का घर है, कोई पीने की जगह नहीं ,
काफिर के दिल में जा, वहाँ पर ख़ुदा नहीं "
............................................